Description of the Book:
 

यह पुस्तक मेरे जीवन के अनेक किस्से और बहुमूल्य लोगो के साथ से स्मपूर्ण होती हैं।
कुछ बाते सच और कुछ काल्पनिक हैं,
मैं पहले ही उन गलतियों के लिए क्षमा प्रार्थी हुं, जो मैंने अंजाने में इस पुस्तक में की होंगी।

सतनाम

₹50.00Price
  • Author Name: मणि प्रभा शर्मा
    About the Author: यह एक 17 वर्ष की नासमझ लड़की की भावनाओं का विस्तार हैं। जो अपने बड़े भाई के लिए मन में जो प्रेम हैं उसे शब्दों में पिरोना चाहती हैं, तो वहीं से शुरू होती हैं उसके लिखने की कहानी। फिर कभी मां कभी सखी मुस्कान और फिर समाज के मुद्दो पर लिखने का प्रयास करती है। राधा कृष्ण को प्रेम का आधार मान कर वो प्रेम पर भी लिखती हैं। इस महामारी के काल में उन्होंने अपने पिता सम्मान बड़े पापा का निधन देखा है, उस विरह को भी वो शब्दों में बांधने का प्रयास करती हैं।
    Book ISBN: 9789849945017