Description of the Book:
 

इस संकलन में संकलित कविताएं मेरे जीवन के अलग अलग दौर में मुझे महसूस हुए उन एहसासों का संकलन है जिन्होंने मुझे अन्दर तक छुआ। इन कविताओं में मेरे भीतर के अन्तर्द्वन्द, और सवालों की छटपटाहट के साथ साथ जिंदगी को समझने की कवायद साफ नजर आती है। मेरा अपनी बात कहने का प्रयास कितना सफल रहा है इसका फैसला पाठक स्वयं करें।

मंथन

₹50.00Price
  • Author Name: Deepak Kumar Meena
    About the Author: दीपक कुमार मीणा "मेराकी" हाल ही में जिला एवं सेशन न्यायालय,उदयपुर (राज.) में कनिष्ठ लिपिक के पद पर कार्यरत हैं। इन्होंने अपनी स्नातक की पढ़ाई सिविल इंजीनियरिंग में, जयपुर से पूर्ण की है। लिखने के साथ ही इनकी संगीत में काफी रुचि है।
    Book ISBN: 9782703936206